Wednesday, October 30, 2019

सोलापुर कोन्फ्रंस





आज सोलापुर में एक कोन्फ्रंस हैं। वहाँ 7 स्किल फाउंडेशन और sir फाउंडेशन के संयुक्त साहस से हम ये कार्यशाला कर रहे हैं। सर फाउंडर स्थापक सदस्य के तौर पे कहु तो आज 13 साल खत्म हुआ।अब और जोस् से आगे बढ़ रहे हैं।

सारे देश में से 16 स्टेट से  100 से अधिक शिक्षक एवं उन के साथ उन के नए विचार होंगे। 7स्किल समूचे देश में से स्किल और नवाचार खोज रहे हैं। पिछली बार ये कोन्फ्रंस गुजरात में हुई थी। पिछले 2 साल से सोलापुर वाले साथी कर रहे हैं।
श्री बालासाहब वाघ, श्री सिद्धराम जी, श्रीमती हेमा ताई, श्री राजकिरण और अन्य साथी उसे सफल बनाने में जुड़े हैं।आप भी आप के नवाचार,शोधपत्र या अन्य जानकारी हम तक पहुंचाएंगे।

#THANKS #अनिल गुप्ता sir
#with U 7स्किल

सोलापुर मुझे याद हैं।
आज भी में सोलापुर हु।
31 और 1 तारीख का आयोजन हैं।में 1 तारीख को निकलूंगा। पिछले साल जो यहां तय हुआ था,आखिर तक उसे नहीं संभाल पाए। आज जो हम साथ मिलेंगे तो एरर दूर करेंगे और नए तरीके से अच्छा,सच्चा और बेहत खूबसूरत करेंगे। किसी से जुड़ने से होंसला बढ़ता हैं। बिच काम में कोई छोड़ दे तो तो...कुछ बढे न बढ़े जस्सा डबल हो जाता हैं। 7स्किल का इस साल का ये दूसरा नॅशनल इनोवेशन कोन्फ्रंस हैं। जो जुड़े है,जुड़े रहे। जो छोड़ गए वो कभी वापस आएंगे। जिन्हें मेने छोड़ा हैं वो मेरे होते कभी नहीं आएंगे। और में तो रहूंगा। किसीको म्यूजिक भी नहीं आता और इनोवेशन भी नहीं कर पाते ऐसे लोगो इस इनोवेशन या संगीत स्पर्धा में निर्णायक बनाना याने इनोबेशन या स्किल  की समझ को बदलने को तैयार रहना। 7स्किल के चेरमेंन श्री प्रवीण माली बच्चो के स्किल और नवाचार को खोजने में विशेष सहयोग दे रहे  है। आज की कोन्फ्रंस में वो भी अवश्य आते महर एक व्यक्तिगत जिम्मेदारी और सामाजिक जीवन से जुडी विशेष जिम्मेदारी निभाने हेतु वो आज विशेष उपस्थित नहीं रहे हैं।आशा हैं 7 स्किल और sir फाउंडेशन के अन्य आयोजन में वो जरूर उपस्थित रहेंगे। उन की शुभकामना के साथ में आज रात सोलापुर पहुंचने वाला हु।

फिरसे समजीए...

एक कुत्ता भी क्रिकेट खेलता हैं।
अंध व्यक्ति सुई में धागा जोत सकता हैं। मगर कुछ लोग करना नहीं चाहते और बहाने से जीतते हैं। मगर ऐसे व्यक्ति अपना स्थान और महत्त्व कम करने को तैयार होते हैं। आज ऐसे व्यक्तियोको मिलना है जिन के नवाचार नॅशनल लेवल पे पसंद हुए है।उन सभी को 7स्किल फाउंडेशन की और सेशुभकामना।

Bnoवेशन:

बोलना याने जीभ से लिखना।
           (महेंद्र चोटलिया सर)

किसी ने बोलके कहा है उसे जीभ से लिखा हुआ मानकर मेने सच्चे लोगोंको,अपने लोगोंको छोड़कर किसी को अपना मनाकर सलाह या पैसा नहीं दूंगा।

जय गुजरात

1 comment:

Bhaminiben H. Mistry said...

बहुत खूब। सभी इनोवेटिव शिक्षको को नवीन वर्षकी शुभकामनाऍ। इवेन्ट अच्छी है। भाग्यशाली को ही तक मिलती है। अगली बार यदि पहले ज्ञात हुआ तो मैं भी जरूर सहभागी हूँगी। शुक्रिया।