Tuesday, October 29, 2019

मेरी दिवाली

 



रंगोंली दीपावली ली में महत्वपूर्ण स्थान रखती हैं। हमारे नए घर में पहली दिवाली थी। श्याम को रंगोली बनाने की में तैयारी करता था। उसी समय मेरी बड़ी बच्ची कहे मुझे ही रंगोली बनानी हैं। आज से पहले उस ने छोटी रंगोली बनाई हैं। आज इतनी बड़ी और सुन्दर रंगोली उस ने कभी नहीं बनाई थी। कुल मिलाकर 2 फिट के व्यास से ये बनाई गई हैं। एक बैठक पे 6 घंटे की महेनत के बाद ये रंगोली बनी गई हैं।

ऋचा जो, आज कॉलेज करती हैं। मगर उसे रंगोली बनाना पसंद है। रंगोली हमारे पर्व की एक अनोखी पहेचान हैं। इसे बनाए रखने में और हर साल 4 से 5 प्रकारकी रंगोली बनाती हैं। खुद ही पसंद करती है और जो सबसे अच्छी है उस के ऊपर हमारे साथ फोटो खिंचती हैं। मेरी पगली फोटो भी अच्छी लेती हैं।रंगोंली दीपावली ली में महत्वपूर्ण स्थान रखती हैं। हमारे नए घर में पहली दिवाली थी। श्याम को रंगोली बनाने की में तैयारी करता था। उसी समय मेरी बड़ी बच्ची कहे मुझे ही रंगोली बनानी हैं। आज से पहले उस ने छोटी रंगोली बनाई हैं। आज इतनी बड़ी और सुन्दर रंगोली उस ने कभी नहीं बनाई थी। कुल मिलाकर 2 फिट के व्यास से ये बनाई गई हैं। एक बैठक पे 6 घंटे की महेनत के बाद ये रंगोली बनी गई हैं।

ऋचा जो, आज कॉलेज करती हैं। मगर उसे रंगोली बनाना पसंद है। रंगोली हमारे पर्व की एक अनोखी पहेचान हैं। इसे बनाए रखने में और हर साल 4 से 5 प्रकारकी रंगोली बनाती हैं। खुद ही पसंद करती है और जो सबसे अच्छी है उस के ऊपर हमारे साथ फोटो खिंचती हैं। मेरी पगली फोटो भी अच्छी लेती हैं।


Bnoवेशन:
नई दिवाली।
मेरे लिए बहोत कुछ नया लाइ हैं।
मुझे ख़ुशी है, की लंबे इंतजार के बाद मेरे वाली 'दिवाली' आई हैं।

No comments: