Saturday, April 27, 2019

उत्तराखंड LBSANa ओर सोनियाजी


labasana#lAbAsAnAiAsiasIASINNOVATION BHAVESH PANDYA BHAVESHPANDYA16@BHAVESHPANDYA
 उत्तराखंड कुदरती संसाधन वाला राज्य। भौगोलिक रूप से देखा जाए तो दिक्कतों के साथ लोग खुशी से जी रहे हैं। आज भी यहाँ लोग पहाड़ो पे रहते हैं।

मसुरी स्थित लालबहादुर शात्री नेशनल एकेडमी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर में 3 दिन के लिए आना हुआ। भारतके नव नियुक्त IAS ऑफिसर के साथ यहाँ संवाद और गोष्टी करने का अवसर प्राप्त हुआ।
How is The josh....

labasana#lAbAsAnAiAsiasIASINNOVATION BHAVESH PANDYA BHAVESHPANDYA16@BHAVESHPANDYA

हमारे नावचार के बारे में सुना और अपने विचार रखे। 26 अप्रैल को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री श्री त्रिबेन्द्रसिंह रावत को मिलनेका मौका मिला। हमे था कि सिर्फ मुख्यमंत्री महोदय मिलेंगे। मगर वहाँ तो शिक्षा विभाग के सभी अधिकारी उपस्थित थे। उन्हों ने अपनी बातें ओर समस्या रखी। बहोत अच्छा लगा जब एक मुख्यमंत्री 2 घंटे तक अपने राज्यो के भिन्न भिन्न सवाल ओर समस्या के लिए इनोवेटर से चर्चा विमर्श कर रहे हैं।
डॉ. अनिल गुप्ता जी की अगुवाई में हमे उनके साथ बात करने की ओर मेरे भाषा शिक्षा के नवाचार को प्रस्तुत करनेका मौका मिला। सोनिया सूर्यवंशी जो कि एक शक्ति हैं। कुछ खास हैं।हम ने IIM में साथ काम किया हैं। आज उन्हें यहां काम करते देखा। वाह सोनिया जी....भाषा या शिक्षा से जुड़े उत्तराखंड के किसी भी काम में सहयोग करने को मैने सहमती दिखाई हैं।

शिक्षा में सबसे बड़ा सवाल हैं MGML ।हम जहाँ रुके थे इस कि बगल में एक सरकारी स्कूल हैं।यहाँ 2 महिला शिक्षक ओर 40 बच्चो के साथ 5 तक कि स्कूल हैं। मेने पूछा आप का कोई एक सवाल जो आप को सताता हो। उन्हों ने कहा सर कोई ऐसी व्यवस्था हो जो एक साथ पढ़ा पाए। 
में मन में इंटिग्रेड मल्टीग्रेड की सोच के साथ बच्चों ने मेरे साथ वहाँ एक गेम खेलने को अपनी मेडमे से कहा। हम खेले ओर थोड़ी देर में केला खाके निकल लिए।

जय हिंद:

अगर कुछ हो सके तो इतना होना चाहिए। उत्तराखंड में 1 से 5 अपने स्टेट के अलग किताब होने चाहिए। NCERT की किताब ओर उत्तराखंड की स्थानीय परिस्थिति के आधार पर ये होना चाहिए। कुछ सालों बाद परिणाम सामने से दिखेगा।