Thursday, October 11, 2018

सर सन्मान...आज मेरा कल आपका...


स्टेट इनोवेशन ऐंड रिसर्च फाउंडेशन, सोलापुर महाराष्ट्र के सर सन्मान में जाना हुआ। 2006 से ऐ फाउंडेशन महाराष्ट्र और देश के अन्य राज्यों के इनोवेशन को खोजने ओर प्रस्थापित करने में सक्रिय हैं। आईआईएम अमदावाद, सृष्टि इनोबेशन ओर हनी बी नेटवर्क से जुड़कर इस संस्थान ने अपना नाम राष्ट्रीय फलक पर फैलाने में सफलता हांसिल की हैं।
सोलापुर डिस्ट्रिक्ट के अक्कलकोट में नेशनल एज्युकेशन इनोबेशन कॉंफ़र्न्स का आयोजन हुआ। मुजे इस कॉंफ़र्न्स मे शामिल होने का अवसर प्राप्त हुआ।
सिद्धाराम जी मशाले और बाला साहब बाघ ओर राज्य के विविध जिल्ला आयोजको के द्वारा अक्कलकोट में भव्य कॉंफ़र्न्स संभव हुई।
मुजे सर सन्मान से सन्मानित किया गया। मेरे लिए गौरवपूर्ण बात हैं कि भारतमें सबसे पहला सर सन्मान मुजे प्राप्त हुआ हैं। आज से मुजे आप प्यार से सर भावेश पंड्या कह सकते हैं। इस यरे से सन्मान के लिए में सर फाउंडेशन का शुक्रिया अदा करता हूँ।


सरकुम:
2014 में डॉक्टर का सन्मान
2018 में आप के द्वारा सर सन्मान
2018 का सन्मान मेरे लिए महत्वपूर्ण हैं। मेरे समग्र देश में शिक्षा से जुड़े 'सरकार के शिक्षक' द्वारा किये गए नवाचार के प्रतिनिधि बनना महत्व पूर्ण हैं। में नव विचारक भले नहीं हूं, में सरकार का मुलाजिम हूं, ओर मुजे उस पर गर्व हैं।
Post a Comment

ગંદો માણસ