Wednesday, October 17, 2018

मेरे रंग मेरे सपने...


मेरे सपने,मेरे अपने।
आज तक बहोत सपने देखे हैं।बहोत सारे सपने यरे हुए हैं। जो मिजे मिला हैं,उसे पाने को लोग तरसते हैं। आज भी में उसे महसूस करता हूँ। आज में आप को मेरे ऐसे ही एक ख्वाब की बात करूंगा। ये ख्वाब वैसे मेरा हैं मगर बहोत सारे साथियो ने उसे पूरा करने में सहयोग रहा हैं। बहोत सारे साथी आज भी जुड़े हुए हैं। कुछ छूट गए कुछ को छोड़ना पड़ा। कुछ लोगो ने मुजे भी रिजेक्ट किया।मगर वो ख्वाब के करीब में पहुंचा हूँ।18 साल के संपर्क ओर बच्चो से सरोकार के कारण आज हम ये कर पाए हैं।

7रंगी स्किल फाउंडेशन जो आज से सात साल से कार्यरत हैं।राज्य और देश के कई हिस्सों में इस फाउंडेशन ने शिक्षा के लिए काम किया हैं। आईआईएम के साथ मिलकर हमने नेपाल और बांग्लादेश के अध्यापको के साथ काम किया। हमे ओर उन्हें सीखने को मिला। 7 रंगी क्या हैं...?

जीवन हो विचार...
अच्छे होने चाहिए। सुख दुख,क्रोध, गम ओर खुशी।हर एक भाव के लिए एक रंग हैं।कहते हैं मूल तह 3 रंग हैं।
रेड
ब्लू
ओर
ग्रीन

इन तीन रंग में से कोई भी रंग बन सकता हैं। अब 7 रंगी तो मेघ धनुष में दिखाई देते हैं। उन सैट रंग को हम जा...नी...वा...ली...पी...ना...रा...के नाम से जानते हैं।हमने इस रंगों के पहले अक्षर को लेकर कुछ नए नाम दिए हैं। जैसे

जा: व्यक्तिगत रूप में करेगा(गुजराती में कहते हैं जाते करे)
नी: निखारेंगे
वा: वाद संवाद
ली: लीन रहेंगे(ध्यान मग्न रहेंगे)
पी: पिछाने गे...
ना:नाटक या अभिनय
रा: राग रागिनी संगीत


ऐसे स्किल में बच्चों को खोजना ओर उन्हें प्रस्थापित करने के लिए एक फाउंडेशन तैयार किया गया हैं।आज तक ये फाउंडेशन उन फॉर्मल था,उसे अब कुछ दिनों में एक रजिस्टर्ड फाउंडेशन के तौर पे तैयार करने जा रहे हैं। आज पूरे देश के प्रतिनिधि को होंगे और उन्हें उन के राज्य में को सपोर्ट करेगा उसका मामला तय होने के अंतिम पड़ाव में हैं।

आप भी जुड़िये ओर आगे सहयोग भी देते रहिए।छोटे बच्चे हमारी राष्ट्र की पहचान हैं।विश्व में हमारे देश की पहचान देने के लिए इस मिशन में आप अवश्य जुड़े।

सरकुम:
क्या होगा मालूम नहीं।
कैसे होगा,ओर क्यो  पता नहीं।
जो भी होगा, जैसे होगा,मेरा होगा अच्छा होगा।
आज को देखा हैं, कल को नहीं, सब जुठ हैं यही सही।
कल जो होगा ,देख लेंगे।जो होगा अच्छा होगा बुरा नहीं।

Post a Comment

ગંદો માણસ