Monday, October 1, 2018

आज बापू के लिए...

गांधीजी ओर विश्व।
सबसे अधिक जिन्हें आदर्श माना गया हैं वैसे महारथी,वैश्विक नेता और विश्व विभूति।
पिछले कुछ दिनों से हम गांधी जीवन पर काम कर रहे हैं।कल दोपहर के समय कुछ काम चलता था तो मैने कहा 'बापू मुझसे सिर्फ 110 साल बड़े थे।' मेरो बात सुनकर मेरे एक दोस्त ने कहा 'जी 110 साल कोई बड़ा फांसला नहीं हैं। मजाक करते हुए हम पपेट शो की तैयारी देखने गए। श्री हितेश भ्रमभट्ट ओर उनके साथी इसके लिए काम कर रहे हैं।गांधीजी के जीवन के लिए एक कहानी को पसंद किया गया हैं और हम उसकी तैयारी देखने लगे।

आज विचार केंद्र का मा.मंत्रिश्री भूपेंद्रसिंहजी चुडासमा के कर कामलोसे विचार केंद्र का उद्घाटन होगा। आज से दो साल तक लगातार समूचे देश में 150 वी जन्म जयंती को मनाया जाएगा। आज का दिन नई पीढ़ी के लिए गांधीजी को समझने के लिए कुछ नए प्लान करके ऐसे विचारो को फैलाने का काम होगा।

मुजे खुशी हैं कि इस महत्वपूर्ण काम से में जुड़ा हु, ओर मुजे भी बापू को समझने के लिए एक अवसर मिला हैं।

सरकुम:

गांधी विचार फेलायेंगे,
बापू को ही अपनाएंगे।

जो होगा विश्व में आज के बाद,
उसे बापू के आशीर्वाद बतलायेंगे।

1 ऑक्टो.
Post a Comment