Monday, September 3, 2018

मोत की राह: उम्र 181

क्या ऐसा हो सकता हैं। आज से कुछ सालों पहले मेने लिखा था। एक व्यक्तिने 124 साल की उम्र का दावा करते हुए गिनिस बुक में दावा किया था। साथ में 104 की उम्र के साथी ने मेरेथोन में हिस्सा लेकर दौड़ पूरी की थी।
आज मेरे पास ऐसी न्यूज़ आई।हैदराबाद से ये खबर मिली। 181 साल की उम्र का दावा हैं। पेपर में लिखा हैं 'शायद मोत मेरा रास्ता भूल गई हैं.'वाराणसी में ये रहते हैं।उनका नाम महस्टा मुरासी हैं।1835 में बेंगलूर में पैदा हुए थे।वो 1903 में वाराणसी रहने को आये थे।अपनी 122 की उम्र तक उन्होंने काम किया। आज वो मोत का इंतजार कर रहे हैं।

@#@
उनको मोत का इंतजार हैं।
अगर मेरा इंतजार खत्म नहीं हुआ तो मोत आएगी।
Post a Comment