Wednesday, May 9, 2018

समय खराब होगा...


आज आप गलत हैं।
आप ने गलती की हैं।
आप ऐसा न करे तो अच्छा हैं।ऐसा हम सुनते ओर कहते हैं।हम मालूम हैं कि व्यक्ति अपने आप की गलती के लिए वकील ओर अन्य की गलती के लिए न्यायाधीश बन जाता हैं।व्यक्ति सदैव गलत होता हैं वो हमारे विचार हैं।कभी समय भी गलत होता हैं जिसकी वजह से सबकुछ गलत दिखता हैं।

मैंने एक बार लिखा था,आप गलती को सुधार ने का अवकाश दो।आप की सारी समस्या हल हो जाएगी।जब मैने तय किया हैं कि मुजे कहि जाना हैं,अब होगा ये की कोई महेमान आ जाएंगे या निकलने में देरी होगी तो मेरे जाना संभव नहीं हैं।तब आप की सोच गलत नहीं हैं।कहि न पहुँचने वाले कि गलती नहीं हैं।कह सकते हैं कि तब समय गलत हैं।
समय का हमे सदुपयोग करना चाहिए।जब समय मिले हमे उसे सन्मान देना चाहिए।समय को काम करके ही सन्मान दीया जा सकता हैं।कुछ लोग ऐसे हैं जो समय को मैनेज नहीं कर सकते।ऐसे लोग हमेशा सफल होने में दिक्कतो का सामना करना पड़ता हैं।एक तरफ काम हैं,दूसरी तरफ समय बर्बाद करने के तरीक़े।जिन्होंने 102 नॉट आउट नाटक या फ़िल्म देखी हैं उसे मालूम हैं कि हर पल को जीने वाला 102 सालका व्यक्ति अपने समय को अपने तरीके से खर्च करता हैं।एक नाटक जो 3 बार देखने का मन करें वैसी ये फ़िल्म नहीं बनी हैं।मगर उसका संदेश अच्छा मिल रहा हैं।अब कोई 3 घंटे फ़िल्म देखेगा,कोई 3 घंटे सोएगा।कोई तीन घन्टे अभ्यास करेगा।तीनो अपनी जगह सही हैं।तीनो के समय समान हैं।जब हम कुछ काम करना चाहते हैं तब हम कहते हैं,समय नहीं हैं।अरे...समय तो हैं,उसका आयोजन नहीं हैं।
अब आयोजन के अभाव से अगर कुछ नहीं हो पाया तो उसमें ग़लती इंसान की नहीं हैं।उसमें गलती समय की हैं।जिसे हम मैनेज नहीं कर पाते हैं।
समय गलत हैं या सही वो समय पर ही मालूम पड़ता हैं।समय कभी रुकता नहीं।समय कभी थमता नहीं।हम रुक जाएंगे मगर समय ऐसा नहीं करेगा।
जब समय गलत होता हैं,तो इंसान कभी सही काम नहीं कर सकता।तो चलो समय को समजे।अगर कुछ अच्छा नहीं हो रहा हैं तो हम नहीं समय गलत हैं।समय को पकड़ने का इरादा रखे और उस गलती को सुधार करने का यत्न करें।

@#@
समय खराब हो सकता हैं।
समय को सुधारा जा सकता हैं।
समय को सुधार ने के लिए हमे थोड़ा सुधार अपने आपमें करना पड़ेगा।
Post a Comment