Friday, February 23, 2018

कृष्ण दवे के साथ...


Bhavesh pandya innovation education innovation story world record likha book record iim iim Ahmadabad innovation dr kaam anil gupta

कृष्ण दवे।
गुजरात के प्रसिद्ध साहित्यकार।
बाल साहित्य के निर्माण में उन्होंने अपनी अलग जगह बनाई हैं।बहोत सारे बच्चो के गाने उन्होंने सर्जन किये हैं।

आज से पहले हम मील थे।गुजरात का प्रथम बालकवि संमेलन हुआ था।सारे गुजरात के बालकवि उपस्थित थे।हम एक दूसरे से वहां मिले थे।ये बात आज से 3 साल पहले की हैं।बीच बीच में भी हमारा मिलना हुआ,मगर साथ बैठ के बात कर पाए वो संम्भव नहीं हुआ।ये मौका मिला पालनपुर में।

45 वा राज्य गणित,विज्ञान एवं पर्यावरण प्रदर्शन आयोजित हुआ था।इस दिनों वो एक विशेष कार्यक्रम में उपस्थित थे।बच्चो के साथ वो खानिबोर गाना करवाने वाले थे।बालसाहित्य के बारे में कुछ अलग से चर्चा होने वाली थी।में भी वहां था।

कृष्ण दवे जी का सरल एवं सहज व्यक्तित्व किसी व्यक्ति को प्रभावित कर सकता हैं।मुजे उनके गाने,कहानिया के साथ उनका व्यवहार भी पसंद आया।खुश नसीब हैं वो लोग जिन्हों ने श्री क्रुअहं5 दवे को सीधा सामने बैठके सुना।

#विद्यामंदिर
#GCERT
Post a Comment