Saturday, October 7, 2017

मछली के लिए...

पहले पानी नहीं नहीं बचाया।
अब नदी बचने तक के आहवान हैं।
में कुछ नहीं लिखूंगा।
आप
समझ ही लेंगे।
Post a Comment