Wednesday, September 6, 2017

क्या कहते हैं...

हम रोज नई जिंदगी जीते हैं।
हम रोज नया काम करते हैं या नया दिन हमारा पुराने तरीको से खत्म होता हैं।कि सारे काम ऐसे होते हैं कि हम नहीं करते।कुछ नया करने में हमे डर होता है।लोग क्या कहेंगे।
कहने वाले तो कहेंगे।हमे कहने पर नहीं,देखनेपर जाना हैं।उन्होंने क्या किया हैं।कई लोग ऐसा करते नहीं हैं,सिर्फ दूसरो को दिखाते हैं,सुनाते है या अड़चन खड़ी करते हैं।
ज्यादातर ये होता हैं कि कुछ करते समय किसी गलती से कुछ काम अच्छा नहीं होता हैं।इस बात को लेकर बादमें हमे ताने सुनने पड़ते हैं।ताने सुनाने वाले का एक ही काम हैं।ताने मारना।भगत हमे तो ओर भी काम करने हैं।हम नए काम को लोगो के कहने से नहीं छोड़ सकते।
#काम
Post a Comment