Saturday, January 19, 2019

बॉलीवुड के सक्सेस 8 मेकअप..


सिनेमा जगत में मेकअप का हमेशा से ही एक अहम रोल रहा है। पहले के जमाने में किसी जवान एक्टर को बूढ़े के किरदार में दिखाने के लिए उसकी दाढ़ी मूंछों और बालों पर सफेदी लगा दी जाती थी। लेकिन समय के साथ सिनेमा में भी बदलवा आने लगे। जिसके बाद पर्दे पर दिखाए जाने वाले किरदार और सीन पहले से ज्यादा वास्तविक लगने लगे। आज भारतीय सिनेमा भी काफी तरक्की कर चुका है। आज फिल्मों में बूढ़े स्टार्स को जवान और जवान स्टार्स को बूढ़े के किरदार में कुछ ऐसे तैयार किया जाता है, की कोई उन्हें पहचान भी नहीं पाता है। मेकअप आर्टिस्ट घंटों मेहनत करके इन स्टार्स के किरदारों को वास्तविकता बनाने की कोशिश करते है। पहले मेकअप करना और फिर मेकअप उतारना इसके लिए काफी मेहनत लगती है। लेकिन बॉलीवुड में कई बार ऐसा हुआ है जब इन स्टार्स के मेकअप को देखकर पहली नजर में हर कोई धोखा खा गया।

आज के पैकेज में जानिए वो 8 मौके, जब मेकअप आर्टिस्ट ने बॉलीवुड स्टार्स पर किया ऐसा जादू कि सभी देखते रह गए।



राजकुमार राव

राजकुमार राव न्यूटन और स्त्री जैसी फिल्मों से बॉलीवुड को अपने अभिनय का लोहा मनवा चुके है। राजकुमार ने फिल्म राब्ता में 324 साल की उम्र वाले व्यक्ति का किरदार निभाया था। लेकिन फिल्म में उनके किरदार को देखकर उन्हें कोई पहचान नहीं सकता। फिल्म में राजकुमार के मेकअप के लिए विशेष रूप से लॉस एंजेलिस से मेकअप आर्टिस्ट बुलाये गए थे। इन मेकअप आर्टिस्ट ने प्रोस्थेटिक मेकअप से राजकुमार को ऐसा लुक दिया की हर कोई इन्हें देखकर हैरान रह गया था।


अक्षय कुमार

रजनीकांत और अक्षय कुमार स्टारर इस फिम 2.0 का दर्शकों को बेसब्री से इन्तजार है। इस फिल्म में अक्षय विलेन के किरदार में नजर आ रहे है। फिल्म का टीजर रिलीज हो चुका है। जिसमें अक्षय का लुक लोगो को काफी पसंद आ रहा है। अक्षय के किरदार को वास्तविक बनाने के लिए विशेष रूप से न्यूजीलैंड के मेकउप आर्टिस्ट सीन फुट को बुलाया गया है। सीन हॉलीवुड फिल्म अवतार की स्टारकास्ट का मेकअप भी कर चुके है।


कमल हासन

कमल हासन को हर तरह के किरदार निभाने में महारत हासिल है। इन्होंने चाची 420 दशावतारम और इंडियन जैसी फिल्मों में निभाए किरदारों से अपने फैंस को सरप्राइज दिया है। साल 1996 में आई फिल्म इंडियन में उन्होंने एक बूढ़े का किरदार निभाया था। मेकअप के जरिए उनका लुक कुछ ऐसे बदल दिया गया था की फिल्म में दर्शक उन्हीं पहचान भी नहीं पा रहे थे।


अमिताभ बच्चन

फिल्म पा में अमिताभ बच्चन ने प्रोजेरिया पीड़ित लड़के औरो का किरदार निभाया था। जो कम उम्र में भी बूढा दिखाई देता है। इस किरदार के लिए अमिताभ को नेशनल अवार्ड भी मिला था। फिल्म में अमिताभ का मेकअप हॉलीवुड मेकअप आर्टिस्ट क्रिस्चियन टिंस्ले और डोमिनी टिल ने किया था। इन दोनों ने अमिताभ की काया कुछ ऐसे बदल दी थी की दर्शक बिग बी को देख हैरान रह गए।


ऋषि कपूर

ऋषि ने फिल्म कपूर एंड संस में 90 साल के क्यूट दादाजी का किरदार निभाया था। फिल्म के लिए ऋषि को बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर के फिल्मफेयर अवार्ड से भी सम्मानित किया गया था। फिल्म में ऋषि के किरदार को वास्तविक बनाने के लिए अमेरिका के मेकअप आर्टिस्ट ग्रेग केनोम की मदद ली गई थी। केनोम ने फिल्म के लिए 2 करोड़ रुपए चार्ज किए थे।


ऋतिक रोशन

ऋतिक ने फिल्म धूम 2 में एक बेहद कूल विलेन का किरदार निभाया था। फिल्म में ऋतिक कई तरह के गेटअप में नजर आए थे। फिल्म की एक सीन में जब ऋतिक एक बूढी महिला की किरदार में देखकर पहली नजर में हर कोई हैरान रह गया था। सबसे दिलचस्प बात ये है की फिल्म में ऋतिक का मेकउप इंडियन मेकअप आर्टिस्ट नहुष पिश ने किया था।



शाहरुख़ खान

शाहरुख़ खान ने फिल्म फैन में डबल रोल किया था। इस फिल्म को देखकर कई लोगों को तो इस बात पर यकीन भी नहीं हुआ था की फिल्म में उनके फैन गौरव का किरदार भी शाहरुख़ ने ही निभाया था। फिल्म के लिए शाहरुख़ खान का मेकअप भी ग्रेग केनोम ने ही किया था।



आमिर खान

3 इडियट्स के प्रमोशन के दौरान आमिर कुछ गेटअप में सौरव गांगुली के घर पहुंचे थे। सौरव के गार्ड्स आमिर को पहचान नहीं पाए थे। इसलिए उन्होंने आमिर को सौरव के घर में एंटर होने दिया। लेकिन बाद में पता चला की ये आमिर का प्रैंक था और सौरव ने उन्हें अपने घर डिनर पर बुलाया था।


सरकुम:

मेकप से रूप बदलता हैं, समज नहीं।
जो मेकप वाली जिंदगी से खेल खेलते हैं।
सच हैं जो दिखाते नहीं, सच नहीं हैं उसे दिखाते रहते हैं।
प्यार सच हैं, दिखाई नहीं देता, हा अफ़सोश हैं कि भरोसा बढ़ाता जा रहा हैं।

मुजे मेकप पसंद नहीं हैं।
में जो सच हैं देखा हैं सिर्फ उसे दिखता हूँ।
में प्यार करता हु, ओर निभातभी हूं। मेरे जीवन मे कोई मेकप नहीं हैं।

25.1

Tuesday, January 15, 2019

बच्चो में आंखों का कैंसर...


अमेरिका में एक मां ने नया मोबाइल खरीदा जिससे उसने अपने बच्चे की फोटो खींची तो उसके सामने एेसा भयानक सच सामने आया कि वो हैरान रह गई । मामला टेक्सास का है जहां रहने वाली टीना ट्रेडवेल ने ...

न्यूयार्कः अमेरिका में एक मां ने नया मोबाइल खरीदा जिससे उसने अपने बच्चे की फोटो खींची तो उसके सामने एेसा भयानक सच सामने आया कि वो हैरान रह गई । मामला टेक्सास का है जहां रहने वाली टीना ट्रेडवेल ने एक नया मोबाइल खरीदा था जिससे वो अपने बेटे की फोटो खींच रही थी। टीना ने कई फोटो अपनी बहन को दिखाए, जिसमें उसकी दाहिनी आंख जानवरों की तरह चमक रही थी।
टीना को लगा कि ये मोबाइल के फ्लैश की वजह से हो रहा है, लेकिन उसे अनजाना डर सता रहा था। इसके बाद उसने एक डॉक्टर से इस बारे में बात की। जल्द ही उसकी आंख चमकने का खौफनाक कारण सामने आ गया। टीना जब बच्चे को डॉक्टर के पास ले गई तो उसका शक सही निकला। बच्चे की आंख फ्लैश की वजह से नहीं चमक रही थी, बल्कि उसे कैंसर था। डॉक्टर ने बताया कि उसे आंख का कैंसर है, जो छोटे बच्चों को होता है और बेहद रेयर होता है।
डॉक्टर्स ने कहा कि अच्छा हुआ कि बच्चे की मां ने फोटो के जरिए इस चीज की पहचान कर ली। कैंसर शुरुआती स्टेज में था और इसे रोका जा सकता था। हालांकि, डॉक्टर्स ने बताया कि ट्रीटमेंट में बच्चे की एक आंख खराब भी हो सकती है। इसके बाद बच्चे का ट्रीटमेंट शुरु कर दिया गया। - अमेरिकन कैंसर सोसायटी की रिपोर्ट के मुताबिक रेटीनोब्लास्टोमा नाम का ये कैंसर आसानी से डिटेक्ट किया जा सकता है। डॉक्टर्स ने कहा कि फ्लैश वाले मोबाइल कैमरे या फ्लैश लाइट से इसे देखा जा सकता है। ऐसे में अगर कैमरे में किसी बच्ची की आंख अजीब तरह से चमके, तो उसे नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए।

सरकुम:

आप एक ओर से देखते हैं।
हमने क्या खोया हमने बताया नहीं। आप खोने से पहले कोर्डन करना चाहती हैं। सवाल मेरे ओर आप के समान हैं, शायद आप को अभी जरूरत नहीं लगती की हमे जानकारी प्राप्त हो।

आप को जल्दी नहीं, मुजे भी देर नहीं हो रही हैं। सवाल ये हैं कि दोनों को जरूरत हैं या कोई एक आगे का सोचता हैं।

सोचिए...

आप की सोच सही हैं।
क्या लोग पागल होने का अभिनय कर सकते हैं?!

Friday, January 11, 2019

मिस थाईलैंड: सफाई कामदार की बेटी


मा सदैव मा होती हैं।
आप जो तस्वीर देख रहे हैं, वो थाईलैंड की हैं। बात हैं वर्ष 2015 की। वहाँ मिस थाईलैंड की प्रतियोगिता थी। विजेता गोशित किये गए। जिस लड़की को मिस थाईलैंड का खिताब मिला वो साधारण परिवार से तालुक रखती हैं।

उसकी माँ ने उसे पालपोसकर बड़ा किया हैं। उस के पापा नहीं हैं, उसकी मम्मी सफाई कामदार के तौर पे कूड़ा उठानेका काम करती हैं। अपनी ट्रॉफी ओर स्कार्फ लेके जब मिस थाईलैंड आपीने घर को निकली तब उसके पीछे स्थानीय मीडिया का जमावड़ा था। घर जाने से पहले रास्ते में उसने एक औरत के पैरों में अपनी ट्रॉफी रखकर उनका चरण स्पर्श किया, ये औरत उसकी माँ थी।

अपनी पहचान बनाने के लिए जिस ने उन्हें पाला उनके आगे नतमस्तक होना एक आदर्श विचार और व्यक्तित्व की पहचान हैं। आप के पास भी ऐसे फोटो हैं, तो कृपया हम तक पहुंचाए।

सरकुम:

मां...
सिर्फ शब्द काफी हैं।

बा...
सिर्फ विचार काफी हैं।

Tuesday, January 1, 2019

ऐसे विचार...कभी नहीं...



कुछ ऐसा जो सिर्फ सुनना हैं।
कुछ सवाल ओर कुछ निर्णय हमे सुनने होते हैं। कुछ को समज सकते हैं, मगर कुछ को समजना शायद संभव न हो।

जब किसी से अपेक्षा होती हैं, सीधा मतलब ये होगा की उपेक्षा भी अवश्य होगी। आप की किसी से अपेक्षा हैं तो आप को उपेक्षा भी सहनी होगी। हम आशा रख सकते हैं। उसे कभी छोड़ना नहीं चाहिए, क्यो की चमत्कार होते ही रहते है। जिस में हमे यकीन करना हैं। 

मेरे दोस्त...

दोस्त, मित्र के नाम से साथ रहने वाले, जो अपने गिरेबान को नहीं देखते हैं। ऐसे लोगो के साथ क्या करना चाहिए जो अपने आप को अलग मानकर किसी को अलग करनेपे तुले होते हैं। ऐसे लोगो को..... अलग से न्याय देना जरूरी हैं। जब तक उन्हें उनके कर्म की बजह से हम कुछ नहीं कहेंगे, वो चमत्कार करते रहेंगे। ऐसे समय हमें आशा रखनी हैं कि उनके चमत्कारों को हम अच्छे से चमकाए।


सरकुम:
यह वख्त भी गुजर जाएगा...!
मित्रो की सजा का एलान होगा...!
तभी गब्बर को खुद होश आएगा...।

2019 की भविष्यवाणियां... नास्त्रेदमस



फ्रांसीसी माइकल दि नास्त्रेदमस ने आने वाले कई सालों के लिए भविष्यवाणियां कर दी थीं. पूरी दुनिया में लोग नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियों पर यकीन करते हैं. इसकी वजह ये है कि उनकी भविष्यवाणियां पहले भी सच साबित हो चुकी हैं.


नास्त्रेदमस ने 2019 के लिए जो भविष्यवाणियां की हैं, उसमें मानवता के लिए अच्छी खबर नहीं है. कई दूसरे भविष्यवेत्ताओं ने भी 2019 में विनाश के ही संकेत दिए हैं. नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी में 2019 में दुनिया खत्म होने के संकेत भी छिपे हैं.
नास्त्रेदमस ने तृतीय विश्व युद्ध, पश्चिमी दुनिया के पतन और एस्टरॉयड के बारे में भविष्यवाणियां की हैं. उनकी भविष्यवाणियों के व्याख्याकारों का कहना है कि 2019 में ये भविष्यवाणियां सच साबित हो सकती हैं.


आइए जानते हैं 2019 के लिए नास्त्रेदमस ने क्या भविष्यवाणियां की हैं-
तृतीय विश्व युद्ध का आगाज-

नास्त्रेदमस ने 1555 में अपनी कविताओं में किसी बड़े वैश्विक संघर्ष का इशारा कर दिया था. नास्त्रेदमस ने लिखा था-

“In the city of God, there will be a great thunder
Two brothers torn apart by Chaos while the fortress endures
The great leader will succumb
The third big war will begin when the big city is burning”


स्कॉलर्स का मानना है कि इन पंक्तियों में यूएस और नॉर्थ कोरिया, यूएस और रूस के बीच तीसरे विश्व युद्ध का संकेत छिपा हुआ है. कई लोगों ने अनुमान लगाया है कि तीसरे विश्व युद्ध के साथ इस सदी की सबसे बड़ा आर्थिक संकट भी आएगा.
नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी के मुताबिक, तीसरा विश्व युद्ध दो सुपरपावर के बीच होगा और यह युद्ध 27 वर्षों तक चलेगा.


एस्टरॉयड से मानवता पर होगा प्रहार-नास्त्रेदमस के मुताबिक, एक सूर्य ग्रहण के दौरान गर्मी की सबसे अंधेरी रात होगी. जब सूर्य पर पूरी तरह से ग्रहण लग जाएगा तब एक आकाशीय पिंड गिरेगा. इस राक्षस को दिन के उजाले में भी देखा जा सकेगा. इन पंक्तियों की व्याख्या करने वाले स्कॉलर्स का कहना है कि धरती पर आकाश से कोई पिंड गिरेगा जिससे विनाश होगा.


नास्त्रेदमस ने भविष्यवाणी की है कि 2019 में मानवता को किसी एस्टरॉयड के प्रभाव को झेलना पड़ेगा. इसके साथ-साथ न्यूक्लियर वार और प्राकृतिक आपदाओं की भी आशंका रहेगी.


नास्त्रेदमस की कविताओं की व्याख्या करने वाले एक वीडियो में बताया गया है कि आसमान में एक धूमकेतु दिखने की घटना के साथ भयंकर हिंसा की घटनाएं भी होंगी. न्यूक्लियर आतंकवाद और प्राकृतिक आपदाएं हमारी धरती का विनाश कर देंगे.


जलवायु परिवर्तन से बदल जाएगी पृथ्वी की सतह-

धरती का बढ़ता तापमान, गलते ग्लेशियर और बड़े हरिकेन की वजह से 2019 में धरती पर हलचल मचती रहेगी.

नास्त्रेदमस ने जलवायु परिवर्तन के खतरनाक असर के बारे में भविष्यवाणी करते हुए लिखा था- हम जल के बढ़ते स्तर और पृथ्वी को इसके नीचे बहते हुए देंखेंगे.


जलवायु परिवर्तन से कई बड़े युद्ध और संघर्ष छिड़ेंगे और लोगों के बीच संसाधनों और मास माइग्रेशन को लेकर विवाद बढ़ते जाएंगे.


लोग जानवरों से बात करना शुरू कर देंगे-
यूट्यूब चैनल अनएक्सप्लेन्ड मिस्ट्रीज के मुताबिक, नास्त्रेदमस ने भविष्यवाणी की है कि जानवर और मानव के बीच भविष्य में एक अविश्वसनीय संबंध कायम हो जाएगा. लोग जानवरों के ज्यादा नजदीक होते जाएंगे और शायद उनसे बातचीत भी कर सकेंगे.


चैनल की व्याख्या के अनुसार, मानव एक-दूसरे की अपेक्षा जानवरों के ज्यादा करीब होंगे. "The pigs will become brothers to man” कुछ लोगों का कहना है कि इसका अर्थ है कि मानव जानवरों की बलि देना बंद कर देंगे जबकि कुछ लोग इसकी व्याख्या करते हैं कि तकनीक की मदद से लोग जानवरों से भी संवाद करने में कामयाब होंगे.


नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी के मुताबिक, 2019 में कुछ यूरोपीय देश खतरनाक बाढ़ की चपेट में आएंगे. इसके अलावा जो देश बाढ़ की त्रासदी से परेशान होंगे, उसमें हंगरी, इटली, चेक गणराज्य और ब्रिटेन का नाम शामिल है. यूरोपीय देश और यूएस ना केवल इमिग्रेशन की समस्या को लेकर जूझेंगे बल्कि इन पर कई आतंकी हमले होने की भी आशंका है.


अमेरिका के अलग-अलग हिस्सों में हरिकेन आएगा जो भयंकर तबाही मचाएगा. ग्लोबल वॉर्मिंग से कई सशस्त्र संघर्ष होंगे. यूएसए के लोगों को बड़े भूकंप के लिए तैयार रहना होगा. यह भूकंप काफी तबाही मचाने वाला होगा. अपनी रणनीति से चीन दुनिया का नया नेता बन जाएगा.


नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी के मुताबिक, मध्यपूर्व देशों और दुनिया के कुछ अन्य हिस्सों में भी धार्मिक अतिवाद बढ़ेगा जिसकी परिणति अशांति और गृहयुद्ध के तौर पर होगी. कई लोगों को अपना देश छोड़कर दूसरे देशों में शरण लेने को मजबूर होना पड़ेगा।

सरकुम:
2019 सरकार मेरी होगी।
2019 जनसंख्या बढ़ेगी।
में ऐसा ही रहूँगा ओर मेरी फरियाद न होगी।

#2018 जैसा भी गया हो,2019 आप चाहेंगे वैसा ही रहेगा।
Love you

Monday, December 31, 2018

स्मार्ट फोन की स्मार्ट जानकारी





सेल्फी कैमरा के बगल में क्या होती है कैमरे जैसी दिखने वाली चीज़, काम जानकार उड़ जाएंगे आपके होश


 आप स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं तो आपने देखा होगा कि सेल्फी कैमरा की दूसरी तरफ दो छोटे कैमरे जैसे दिखने वाले सेंसर लगे होते हैं, ज्यादातर लोगों को ये सेंसर नहीं बल्कि कैमरा ही लगता है लेकिन असलियत में इन्हें प्रॉक्सिमिटी सेंसर बोलते हैं। आपको बता दें कि ये सेंसर हमारे स्मार्टफोन के लिए बेहद ही जरूरी होते हैं और अगर ये ना हों तो हमारे स्मार्टफोन की बैटरी जल्दी ही खत्म हो जाएगी।

जानिए क्या होता है काम

आपने गौर किया होगा कि जब आप किसी से कॉल पर बातें करते हैं तो आपके स्मार्टफोन का डिस्प्ले अपने आप ही बंद हो जाता है और जैसे ही आपका फोन कट होता है वैसे ही स्मार्टफोन की डिस्प्ले अपने आप ऑन हो जाती है। ऐसे में आज हम आपको बता दें कि ये सब प्रॉक्सिमिटी सेंसर की वजह से ही होता है। यह सेंसर आईआर ब्लास्टर होता है जो कॉल आने के दौरान जैसे ही आप स्मार्टफोन को अपने कान के पास लगाते हैं वैसे ही फ़ोन की डिस्प्ले को ऑफ कर देता है।

बता दें कि प्रॉक्सिमिटी सेंसर आपके फोन के लिए बेहद ही जरूरी है और अगर ये ठीक से काम ना करे तो कॉल पर बात करने के दौरान स्मार्टफोन की बैटरी पहले के मुकाबले जल्दी खत्म होगी। ऐसे में यह आपके स्मार्टफोन की बैटरी बचाने का काम रखता है और कॉल पर बात होने के बाद यह डिस्प्ले को ऑन भी कर देता है।

Sunday, December 30, 2018

।। भुनसारे चिरैया काय बोली ।।



मेरे दोस्त,
बुजुर्ग दोस्त।
वीरेंद्र दुबे जी।
Ignus. org के सक्रिय स्थापक सदस्य और साथी।
हमने कई साल साथमें काम किया, आज भी हम उनसे संपर्क में हैं। आज भी काम करते हैं,उनसे सीखते हैं। दुबे जी की लेखन शैली आप को पसंद आएगी।

 चिरैया काय बोली

बरसों बाद रोज की आहट से हटकर
बचपन के रोज की तरह
गौरैया की चहचहाहट ने नींद खोली
सपने से जागने से वे अनमने क्षण
सहसा आ धमके आमने सामने ।।

कहाँ चली गयीं सबकी सब एक एककर
निगल गयीं तुमको भी उन्नति
हरियाली खुशहाली कहती कपटी कवायतें
आज अचानक कहाँ से आ चहकीं ?
आ गयीं अपने पुराने घर नहीं रहा घरौंदा पर ।।

खूब खूब चमकीले पानीदार दानों भर
तुम्हारा जी भर सुस्वागतम ,
तुम्हारे साथ साथ कोहरे में आंख मलते
चली आने वाली आने वाली ठिठुरती सुबह का भी ।।

सरकुम:

चिड़िया छोटी होती हैं।
नाजुक ओर प्यारी होती हैं।
मेरी एक चिड़िया हैं, देश परदेश गुमती हैं।
देशमें प्यार जताती हैं, विदेश में डाटती हैं।
आप मेरे लिए सदैव के लिए ming you हैं।

गलती किये महीनों हुए, अबतो सुधर चुके हैं। मेने काम और जीवन को आगे डेवेलोप करनेका प्लान किया हैं। साथ जुड़ के चलना तय हुआ हैं। उसे देखे। गलत सोच में समय बिगड़ता हैं, काम रुकता हैं। जैसे आज सब अच्छा था। फरभी नींद न आई।



तेरे साथ, तेरे सहारे।